बलबीर गिरि के उत्तराधिकार को हाईकोर्ट में चुनौती, सीबीआई को नोटिस जारी : Balbir Giri’s succession challenged in High Court, notice issued to CBI

Spread the love


इलाहाबाद हाईकोर्ट में प्रयागराज के बाघंबरी मठ के महंत बलबीर गिरि के उत्तराधिकार को चुनौती देने वाली एक रिट याचिका दाखिल की गई है. कोर्ट ने स्वामी नरेंद्र गिरि की मौत के मामले की जांच कर रही सीबीआई को नोटिस जारी किया है.

News Nation Bureau | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 05 Oct 2021, 08:26:03 AM
balbir giri

balbir giri (Photo Credit: File Photo)

highlights

  • समारोह पर अनिश्चितता के बादल मंडरा रहे हैं
  • हाईकोर्ट में आज मामले की फिर से सुनवाई होगी
  • मदन मोहन गिरी ने दायर की थी याचिका

 

प्रयागराज:

इलाहाबाद हाईकोर्ट में प्रयागराज के बाघंबरी मठ के महंत बलबीर गिरि के उत्तराधिकार को चुनौती देने वाली एक रिट याचिका दाखिल की गई है. कोर्ट ने स्वामी नरेंद्र गिरि की मौत के मामले की जांच कर रही सीबीआई को नोटिस जारी किया है. सूत्रों ने बताया कि महंत नरेंद्र गिरी के शिष्य बलबीर गिरि को पांच अक्टूबर को मठ के अगले प्रमुख के रूप में अभिषेक के लिए निर्धारित समारोह पर अनिश्चितता के बादल मंडराने लगे हैं. इस मामले की आज फिर से सुनवाई होगी. कोर्ट में इस सुनवाई के तुरंत बाद जांच एजेंसी सीबीआई को नोटिस जारी किया गया.

यह भी पढ़ें : महंत नरेंद्र गिरि और आशीष गिरि की मौत के बीच कनेक्शन खंगाल रही CBI

निरंजनी अखाड़ा के स्वामी मदन मोहन गिरी ने यह याचिका दायर की थी. इस मामले की सुनवाई मंगलवार को भी होगी. इस पूरे मामले को लेकर निरंजनी अखाड़ा सचिव स्वामी रवींद्र पुरी से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि नोटिस या याचिका की कोई जानकारी नहीं है. हालांकि, उन्होंने स्वीकार किया कि बलबीर गिरी के उत्तराधिकार को लेकर साधुओं के बीच चर्चा जरूर हो रही थी, विशेषकर इसलिए क्योंकि वह संतों की गिरिनामा शाखा से नहीं जुड़े थे. उन्होंने मंगलवार को आयोजित समारोह के बारे में कहा, यह कार्यक्रम तय समय पर आयोजित किया जाएगा. इसके लिए सारी तैयारी कर ली गई है और इसमें भाग लेने के लिए संत भी पहुंच रहे हैं. उन्होंने कहा, यदि इस मामले में कोर्ट का कोई आदेश आता है तो वह इसका सम्मान करेंगे.

गौरतलब है कि बलबीर गिरि को दिवंगत महंत नरेंद्र गिरि का उत्तराधिकारी नियुक्त करने और 5 अक्टूबर को उनका अभिषेक करने की घोषणा करने का फैसला निरंजनी अखाड़ा के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरि ने 30 सितंबर को प्रयागराज और हरिद्वार के साधु-संतों से सलाह-मशविरा करने के बाद ही लिया गया था. इस मामले से जुड़े लोगों ने कहा कि निमंत्रण कार्ड पहले ही वितरित किए जा चुके हैं. इसके लिए आमंत्रित लोग प्रयागराज पहुंच गए हैं. 



संबंधित लेख

First Published : 05 Oct 2021, 08:26:03 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.