रोजगार पर कर्नल कोठियाल ने दोनों दलों को दी सार्वजनिक मंच पर बहस की चुनौती:आप

Spread the love

highlights

  • हिंदू विरोधी हैं कांग्रेस बीजेपी,आखिर आध्यात्मिक राजधानी से क्यों तकलीफ में दोनों दल: कर्नल अजय कोठियाल
  • खुले मंच पर आमंत्रित किया बीजेपी कांग्रेस को,अपना प्लान बताएं, मैं बताऊंगा अपना प्लान: कर्नल अजय कोठियाल
  • देवभूमि को आध्यात्मिक राजधानी बनाने की घोषणा के बाद से ही दोनों दल भयभीत हैं: कर्नल अजय कोठियाल

उत्तराखंड:

आम आदमी पार्टी के सीएम उम्मीदवार और आप पार्टी के वरिष्ठ नेता कर्नल अजय कोठियाल ने आज दो अहम मुद्दों पर एक प्रेसवार्ता का आयोजन करते हुए, बीजेपी कांग्रेस दोनों पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने पहले रोजगार के मुद्दे पर हरीश रावत और बीजेपी के सवालों पर कहा,वो दोनों दलों को खुले मंच पर बहस की चुनौती देते हैं कि वो आए और अपने रोजगार प्लान पर बात करें,हम भी अपने रोजगार प्लान पर बात करेंगे . उन्होंने कहा,अगर वो रोजगार पर बहस करना चाहते हैं ,तो वो बहस करने को तैयार हैं और खुले मंच पर वो बताएंगे कि हिमालयी राज्य में आखिर कैसे रोजगार मुहैया कराया जा सकता है.

यह भी पढ़ेः अजय कोठियाल होंगे उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री उम्मीदवारः केजरीवाल

वहीं उन्होंने दूसरी बात, देवभूमि को आध्यात्मिक राजधानी बनाने पर कही,उन्होंने कहा, देवभूमि को आध्यात्मिक राजधानी बनाने की घोषणा के बाद से ही दोनों दल भयभीत हैं. दोनों दल अब आप पार्टी पर निशाना साध रहे हैं. उन्होंने दोनों दलों के नेताओं से पूछा , इनको हिन्दुओं से तकलीफ है , या आध्यात्मिक राजधानी से तकलीफ है जो बीते दिनों से , आध्यात्मिक राजधानी पर बेवजह सवाल उठा रहे हैं. उन्होंने कहा कि, योग हिमालय से जुडा हुआ है और जब हमारी पार्टी आध्यात्म को पहाड से जोडना चाहती है ,तो बीजेपी कांग्रेस के लोगों को तकलीफ होने लगी है. उन्होंने यूथ फाउंडेशन द्वारा सेना में भर्ती युवाओं के बारे में बोलते हुए कहा कि, वो तथ्यों पर बात करते हैं,दोनों ही दल उनसे खुले मंच पर बहस कर लें ,वो तथ्यों के साथ बहस के लिए हमेशा तैयार हैं. उन्होंने आगे कहा कि, वो तो कभी भी सरकार में नहीं रहे ,सरकार का हिस्सा तो कांग्रेस और बीजेपी रही ,लेकिन तब आखिर क्यों वो रोजगार देने के नाम पर चुप रहे. क्यों नहीं इन दोनों दलों ने युवाओं को रोजगार मुहैया नहीं करवाए . उन्होंने दोनों दलों के नेताओं से पूछा आखिर उन्होंने युवाओं के रोजगार,फौज में भर्ती ,गौरव सेनानी,फौजियों और अन्य फोर्सस के लिए अब तक क्या किया. उन्होंने चुनौती देते हुए कहा कि, कोई भी खुले मंच पर अपने तथ्य लेकर आए वो बहस करने को तैयार हैं. बिना तथ्यों के आरोप प्रत्यारोप ना करें.

यह भी पढ़ेः काबुल में फंसे उत्तराखंड के लोगों के लिए केन्द्र सरकार जल्द उठाए कदम: दिग्मोहन नेगी

उन्होंने कहा केदारनाथ पुननिर्माण से लेकर नंदा राजजात यात्रा तक उनके सानिध्य में कई युवाओं ने इन्हें संचालित किया जो अपने आप में एक मिसाल है. अब आप पार्टी रुकने वाली नहीं है. यूथ फाउंडेशन पर उठे सवाल पर जवाब देते हुए कर्नल कोठियाल ने कहा कि 4 लोगों से शुरु हुआ यूथ फांउडेशन का सफर अब हजारों की संख्या पार कर चुका है ,और कई युवा आज इससे जुडकर रोजगार पा चुके हैं,लेकिन अफसोस कि कुछ लोगों को युवाओं को रोजगार देना गलत नजर आ रहा है. उन्होंने कहा कि, हमारे मन में किसी के लिए भी द्वेष नहीं है और अगर मैं अच्छा काम करता हूं तो हरीश रावत जी को अच्छे काम की तारीफ जरुर करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि, यूथ फाउंडेशन का राजनीति से कोई भी सरोकार नहीं है और यूथ फांउडेशन गुप्काशी में आरएसएस के लोगों को भी डिजास्टर मैनेजमैंट की ट्रेनिंग दे चुका है. उन्होंने कहा कि ,डिजास्टर में यूथ फाउंडेशन ने बहुत बेहतर काम किया और अभी बीते 18 जुलाई में उत्तरकाशी जिले के गांवों में जो आपदा आई उसमें फाउंडेशन के युवाओं ने 15 दिन कैंप कर लोगों की मदद की. उन्होंने आगे कहा कि, यूथ फाउंडेशन के विरोध का मतलब ,रोजगार का विरोध करना है और आज प्रदेश के हर गांव में यूथ फाउंडेशन से जुडे युवा हैं. लेकिन अगर अब भी बीजेपी कांग्रेस के नेताओं के मन में कोई सवाल है तो वो सवाल करते रहें उन्हें इससे और ज्यादा ताकत मिलेगी.



संबंधित लेख

Leave a Reply

Your email address will not be published.