Delhi cm arvind kejriwal visit uttarakhand

Spread the love

highlights

  • उत्तराखंड के दौरे पर सीएम केजरीवाल
  • बिजली मुफ्त देने का किया वादा
  • रोजगार के लिए किए छह घोषणाएं

नई दिल्ली :

उत्तराखंड में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं. चुनाव में महज कुछ महीनों का वक्त बचा हुआ है. आम आदमी पार्टी (AAP) ने भी उत्तराखंड में चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. उत्तराखंड में चुनावी बिगुल फूंकने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) आज रविवार को वहां पहुंचे हैं. इस दौरान उन्होंने बीजेपी और कांग्रेस पर जमकर वार किया. सीएम केजरीवाल चार धाम यात्रा फिर से शुरू होने पर बधाई दी. इसके बाद तमाम दलों पर जुबानी वार करना शुरू किया. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड को बने 21 साल हो गए, इन 21 सालों में नेताओं पार्टियों ने लूटने में कोई कसर नहीं छोड़ी.

मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि पिछले कुछ महीनों से 21 साल की दुर्दशा को 21 महीने में ठीक करने का प्लान बना रहे है. 

इसे भी पढ़ें:कैप्टन पर सिद्धू के सलाहकार का वार, कहा- आपके पापों का सबूत है मेरे पास

कैसे रोज़गार, स्कूल ,बिजली ,सड़क खेती सबको ठीक किया जाएगा.उस प्लान का पहला बिंदु बिजली के बिलों की परेशानी को लेकर था. दिल्ली में हमने करके दिखाया आज वहां 73% फीसदी लोगों को मुफ्त बिजली मिलती है. अगर हमारी सरकार यहां बनेगी तो 300 यूनिट मुफ़्त बिजली दी जाएगी और पुराने बिजली के बिल माफ़ किया जाएगा तथा 24 घंटे बिजली दी जाएगी. मैं जो कहता हूं वो करता हूं. हमने कहा मुफ़्त बिजली देंगे..तो देंगे.

अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा, ‘उत्तराखंड के युवा में खूब एनर्जी है,लेकिन 21 सालों में युवाओं की भी दुर्दशा कर दी है इन सरकारों ने. आज उत्तराखंड की समस्या पलायन है. उत्तराखंड पलायन प्रदेश बन गया है. युवाओं को रोजगार चाहिए ये उनका हक है. 

इसके साथ ही केजरीवाल ने युवाओं को रोजगार उपलब्ध करना के लिए छह घोषणाएं की. 

1) हर युवा को रोजगार

2) रोज़गार नही मिल जाता ,हर युवा को 5 हजार रुपये महीना देगी सरकार

3) सरकार व प्राइवेट में उत्तराखंड के बच्चो के लिए रिज़र्व की जाएगी

4) 1 लाख सरकारी नौकरिया 6 महीने में दी जाएगी

5) दिल्ली में हमने जॉब पोर्टल बनाया जिसमे रोज़गार देने व लेने वाले रजिस्टर कराए जिसपर 10 लाख नौकरिया आई. ऐसा पोर्टल उत्तराखंड के लिए बनाया जाएगा.

6) इसको लेकर मंत्रालय बनाया जाएगा रोज़गार व पलायन मंत्रालय



संबंधित लेख

Leave a Reply

Your email address will not be published.