Education of pre-vocational courses will be given to the students of 6th to 8th standard of government schools, under the new education policy, 13 skills are being taught to children in 59 schools of the district. | सरकारी स्कूलों के 6वीं से 8वीं तक के विद्यार्थियाें काे दी जाएगी प्री-वाेकेशनल काेर्सों की शिक्षा, नई शिक्षा नीति के तहत जिले के 59 स्कूलों में बच्चों को 13 कौशल सिखाए जा रहे

Spread the love

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Education Of Pre vocational Courses Will Be Given To The Students Of 6th To 8th Standard Of Government Schools, Under The New Education Policy, 13 Skills Are Being Taught To Children In 59 Schools Of The District.

अम्बाला28 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
अध्यापकों एवं व्यवसायिक अध्यापकों को ट्रेनिंग देते विशेषज्ञ। - Dainik Bhaskar

अध्यापकों एवं व्यवसायिक अध्यापकों को ट्रेनिंग देते विशेषज्ञ।

जिले के 59 स्कूलों में 13 कौशल बच्चों को सिखाए जा रहे हैं। नई शिक्षा नीति 2020 के अनुसार 2025 तक इस दायरे को और भी बढ़ाया जाएगा। राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों को विभिन्न क्षेत्रों में कुशल बनाने के लिए अब छठी कक्षा से ही वोकेशनल शिक्षा दी जाएगी।

साेमवार काे पूर्व व्यवसायिक शिक्षा के लिए जिले में कक्षा 6 से 8वीं के अध्यापकों एवं व्यवसायिक अध्यापकों की ट्रेनिंग हुई। जिसकी अध्यक्षता जिला परियोजना समन्वयक सुधीर कालड़ा ने की। मीटिंग में सहायक परियोजना अधिकारी पूजा शर्मा एवं तकनीकी कोऑर्डिनेटर रजनी शर्मा भी माैजूद रही।

सबसे पहले सहायक परियोजना अधिकारी पूजा शर्मा ने बताया कि राज्य से 110 एवं अम्बाला जिले के 5 स्कूलों का चयन इस उद्देश्य के लिए किया गया है।

डीपीसी सुधीर कालड़ा ने बताया कि 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद विद्यार्थियों को रोजगार के लिए भटकना न पड़े, इस को ध्यान में रखते हुए शिक्षा विभाग की तरफ से यह निर्णय लिया है। निदेशालय की तरफ से पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर जिले के 5 स्कूलों को चयनित किया गया है। इन स्कूलों में पहले से कार्यरत सामान्य अध्यापक ही 17 कोर्सों के बारे में सामान्य जानकारी प्रदान करेंगे। वर्तमान में जिले में 59 राजकीय विद्यालयों में कक्षा नौवीं से बारहवीं तक विभिन्न वोकेशनल कोर्स संचालित है।

इन स्कूलों में छठी कक्षा से शुरू होंगे वोकेशनल कोर्स

निदेशालय की तरफ से जिले के 5 स्कूलों में छठी से आठवीं तक वोकेशनल शिक्षा शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। इसमें राजकीय मॉडल संस्कृति वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय नारायणगढ़, सरकारी स्कूल समलेहड़ी, सरकारी स्कूल उगाला, पुलिस लाइन स्कूल एवं माॅडल संस्कृति स्कूल शहजादपुर शामिल हैं। इसके बाद अन्य स्कूलों में भी प्री वोकेशनल कोर्सों का दायरा बढ़ा दिया जाएगा। हालांकि स्कूलों में नौवीं से 12वीं तक की कक्षाओं में पहले से वोकेशनल कोर्स चल रहे हैं।

छात्रों को 17 कोर्सों के बारे में दी जाएगी जानकारी

विद्यार्थियों को आईटी, ब्यूटी एंड वेलनेस, हेल्थ केयर, फिजिकल एजुकेशन एंड स्पोर्ट्स, रिटेल, ऑटोमोबाइल, बैंकिंग एंड फाइनेंस, सिक्योरिटी, कृषि, फूड प्रोसेसिंग पेपर वर्क, परिधान, मीडिया एंटरटेनमेंट एंड एनिमेशन, प्लंबिंग, पावर, टेलीकॉम एवं कंस्ट्रक्शन के बारे में बेसिक ज्ञान प्रदान किया जाएगा। इन विद्यालयों में बेगलेस डे के दिन विशेषज्ञ इन 17 कोर्सों के बारे में दो लेक्चर के दौरान कौशल से संबंधित जानकारी देंगे। पूर्व व्यवसायिक शिक्षा से संबंधित इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में विभिन्न विद्यालयों के 50 अध्यापकों ने भाग लिया।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published.