IPL 2021 Another umpiring controversySunil Gavaskar slams TV umpire after no ball controversy against CSK in final over

Spread the love

नई दिल्ली. इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) ने 2021 सीजन के यूएई चरण के शुरू होने के बाद से कई रोमांचक पल फैन्स को दिखाए हैं. हालांकि, टूर्नामेंट के यूएई फेज में अंपायरिंग के कुछ फैसलों की काफी आलोचना हुई है. जबकि ऑन-फील्ड अधिकारी अपने फैसलों के साथ काफी सुसंगत रहे हैं, यह तीसरे अंपायर की कॉल है, जिसने कई लोगों को निराश किया है. दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) और चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super kings) के बीच हुए मैच में भी अंपारिंग का खराब नजारा एक बार फिर से फैन्स को देखने को मिला. इससे पहले पंजाब किंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच हुए मुकाबले में अंपायरिंग को लेकर जमकर बवाल हुआ था.

दिल्ली कैपिटल्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच सोमवार को हुए मैच में थर्ड अंपायर द्वारा सामान्य अंपायरिंग की एक और घटना सामने आई है, जिसके बाद सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने टीवी अंपायर को जमकर फटकार लगाई. मैच के अंतिम ओवर में सीएसके के ड्वेन ब्रावो को 6 रनों का बचाव करने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी. वेस्टइंडीज के इस गेंदबाज ने ऑफ स्टंप के बाहर ओवर की दूसरी गेंद फेंकी. दरअसल, वह गेंद पिच पर भी नहीं उतरी थी. ऐसे में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाड़ियों ने गेंद से 2 अतिरिक्त प्राप्त करने के लिए जल्दी से एक सिंगल रन के लिए दौड़ लगा दी.

DRS लेने में फेल हुए धोनी, 10 में सिर्फ 1 चैलेंज सफल; पूर्व क्रिकेटर का ताना- अब ‘ध्‍यान से लेना रिव्‍यू सिस्‍टम’

लाइन अंपायर ने नो बॉल का इशारा किया, क्योंकि गेंद पिच के बाहर उतरी थी, लेकिन तीसरे अंपायर द्वारा परामर्श मांगे जाने के बाद निर्णय बाद में बदल दिया गया था. नियमों के अनुसार, यदि गेंद पूरी तरह या आंशिक रूप से पिच से बाहर निकलती है, तो अंपायर नो-बॉल का संकेत देने के लिए बाध्य है (कानून 61). थर्ड अंपायर के ऑन-फील्ड अंपायर की कॉल बदलने के इस फैसले ने कई लोगों को चकित कर दिया. गावस्कर को यह समझ में नहीं आया कि टीवी अंपायर ने नो-बॉल के बजाय इसे वाइड कहने का फैसला क्यों किया. जब दिल्ली कैपिटल्स को 5 गेंदों पर 4 रन चाहिए थे, जिसके परिणामस्वरूप अगली गेंद पर फ्री-हिट हो जाती.

मैच के बाद गावस्कर ने स्टार स्पोर्ट्स पर कहा, ”वह स्पष्ट रूप से नो बॉल थी. हमने टीवी अंपायरों से कुछ फैसले लिए हैं, जो इन परिस्थितियों में जीत और हार के बीच अंतर कर सकते हैं, और ऐसा नहीं होना चाहिए.” उन्होंने कहा, ”इस तरह के फैसलों से खेल नहीं बदलना चाहिए. यह अच्छी बात है कि दिल्ली जीत गई, क्योंकि इससे खेल बदल सकता था.”

यह ओवर प्रशंसकों के लिए दिलचस्प साबित हुआ, जिसमें ड्वेन ब्रावो ने अक्षर पटेल को तीसरी गेंद पर आउट कर सीएसके को फिर से मुकाबले में वापस ला दिया. कगिसो रबाडा क्रीज पर थे. दिल्ली कैपिटल्स को मैच जीतने के लिए 3 गेंदों में 2 रन चाहिए थे, फिर रन-चेस को पूरा करने के लिए रबाडा ने चौथी डिलीवरी पर एक चौका लगाया.

T20 WC से पहले धोनी का मुरीद हुआ यह कप्तान, बताया- कैसे माही से सीख रहा कप्तानी

शुक्र है कि दिल्ली कैपिटल्स के फैसले का मैच के नतीजे पर कोई असर नहीं पड़ा. शिमरोन हेटमायर अपनी टीम को जीत दिलाने के लिए बीच में मजबूती से खड़े रहे. दिल्ली कैपिटल्स के लिए शिखर धवन ने 35 गेंदों में 39 रन की पारी खेली. हेटमायर ने टीम में फिनिशर की भूमिका निभाई. उन्होंने महज 18 गेंदों में 28 रन की पारी खेलकर इस रोमांचक रन चेज को पूरा किया. इस जीत के साथ दिल्ली कैपिटल्स अंक तालिका में चेन्नई सुपर किंग्स को पछाड़कर एक बार फिर से टॉप पर पहुंच गई है.

दिल्ली कैपिटल्स ने 13 मैचों में से 10 में जीत हासिल कर 20 अंक हासिल कर लिए हैं. वहीं, चेन्नई सुपर किंग्स के 13 मैचों में 9 जीत है और उनके 18 अंक है. रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर 12 मैचों में 8 जीत हासिल करके 16 अंकों के साथ अंकतालिका में तीसरे स्थान पर है. चौथे स्थान पर कोलकाता नाइट राइडर्स हैं, जिसने 13 मैचों में 6 जीत हासिल कर 12 प्वॉइंट कमाए हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Leave a Reply

Your email address will not be published.