No need to visit private hospital to get platelets transfused, Dengue disease spreading rapidly in Rewari | नागरिक अस्पताल को मिली ब्लड कंपोनेंट सेप्रेशन मशीन, डेंगु में प्लेटलेट्स डाउन होने पर प्राइवेट हॉस्पिटल नहीं जाना पड़ेगा

Spread the love

रेवाड़ी18 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
नागरिक अस्पताल रेवाड़ी में कंपोनेंट सेप्रेशन मशीन के साथ डिप्टी सिविल सर्जन। - Dainik Bhaskar

नागरिक अस्पताल रेवाड़ी में कंपोनेंट सेप्रेशन मशीन के साथ डिप्टी सिविल सर्जन।

हरियाणा में डेंगू ने इस साल पूरी तरह से पांव पसार लिए हैं। प्रदेश के कुछ जिलों में डेंगू मरीजों का आंकड़ा 500 पार कर चुका है। वहीं कई जिलों में बड़ी संख्या में संदिग्ध मरीज रोज मिल रहे हैं। रेवाड़ी, महेन्द्रगढ़ और झज्जर जिले में भी काफी संख्या में डेंगू के कंफर्म केस मिल चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, अभी तक रेवाड़ी में 17 केस कंफर्म हुए हैं, जबकि हकीकत यह है कि इससे दो गुना ज्यादा लोग बीमारी होने के बाद ठीक भी हो चुके हैं।

शुरुआत में कुछ निजी अस्पतालों ने डेंगू मरीजों का सही आंकड़ा नहीं भेजा। डेंगू व वायरल के फैलाव को इसी से समझा जा सकता है कि रेवाड़ी के अधिकांश छोटे व बड़े निजी अस्पतालों में डेंगू के संदिग्ध मरीज भर्ती हैं। इनमें प्लेटलेट्स डाउन के मरीजों की संख्या अनगिनत है। कुछ अस्पतालों में तो मरीज भर्ती करने करने के लिए बेड तक नहीं हैं। हालांकि राहत की बात यह है कि नागरिक अस्पताल में स्वास्थ्य विभाग ने डेंगू के मरीजों के लिए अलग से वार्ड बनाया है, जिसमें काफी मरीज भर्ती हैं।

नागरिक अस्पताल के ब्लड बैंक में लगी मशीन।

नागरिक अस्पताल के ब्लड बैंक में लगी मशीन।

नागरिक अस्पताल में ब्लड कंपोनेंट सेप्रेशन मशीन

डेंगू बीमारी से ग्रस्त मरीज के प्लेटलेट्स डाउन होना एक बड़ी परेशानी बना हुआ हैं। निजी अस्पतालों में प्लेटलेट्स चढ़वाने के लिए बेड मरीजों से भरे हुए हैं। बीमारी पीक पर होने की वजह से लोगों से इलाज के नाम पर मोटी रकम भी वसूल की जा रही हैं। इस बीच रेवाड़ी के लोगों के लिए राहत भरी खबर हैं। सरकार की तरफ से रेवाड़ी के नागरिक अस्पताल में ब्लड कंपोनेंट सेप्रेशन मशीन भिजवाई गई है। ऐसे में अब नागरिक अस्पताल में भी लोग प्लेटलेट्स चढ़वा सकते हैं।

दरअसल, हर साल मानसून सीजन के बाद डेंगू का खतरा बन जाता है। डेंगू के मरीजों के साथ बड़ी संख्या में सामान्य वायरल से ग्रस्त लोगों की प्लेट्लेट्स कम होने के मामले भी सामने आ रहे हैं, लेकिन नागरिक अस्पताल में प्लेटलेट्स चढ़ाने की व्यवस्था नहीं होने के कारण गरीब लोगों को भी निजी अस्पतालों में महंगा इलाज कराने के लिए मजबूर होना पड़ रहा था। इस बार सरकार ने रेवाड़ी को ब्लड कंपोनेंट सेप्रेशन मशीन उपलब्ध करा दी है। अब लोग मुफ्त में नागरिक अस्पताल में प्लेटलेट्स चढ़वा सकते हैं। एक-दो दिन के अंदर यह मशीन चालू हो जाएगी।

डेंगू वार्ड में भर्ती मरीज।

डेंगू वार्ड में भर्ती मरीज।

जान बचाने के लिए प्लेटलेट्स चढ़ाना जरूरी

डेंगू के अधिक प्रकोप में मरीज की जान बचाने के लिए प्लेटलेट्स चढ़ाने की जरूरत होती है। इसमें स्वस्थ व्यक्ति के शरीर से रक्त लेकर प्लेटलेट्स, प्लाजा, आरडीपी, पीबीसी के घटक अलग कर लिए जाते हैं और उसके बाद डेंगू मरीज को प्लेटलेट्स चढ़ाई जाती हैं। अभी तक प्लेटलेट्स निकालने और चढ़ाने की यह मशीन कुछ निजी अस्पताल व लैब में ही थी, लेकिन अब नागरिक अस्पताल में पहुंच चुकी है।

भेजी हुई थी डिमांड

डिप्टी सीएमओ डॉ. सर्वजीत थापर ने कहा कि नागरिक अस्पताल में ब्लड बैंक के लिए सेप्रेशन मशीन और इसके संचालित होने से मरीज को रक्त और प्लेटलेट्स चढ़वाने के लिए अन्यत्र जाना नहीं पड़ेगा। नागरिक अस्पताल ने लंबे समय से इसकी डिमांड भेजी हुई थी। मशीन व लाइसेंस मिलने के बाद अब जल्द ही डेंगू के मरीजों को प्लेटलेट्स चढ़ाने की व्यवस्था शुरू होगी।​​​​​​

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published.