Wrote – It is okay to die where women are not respected, rape happened in July and attacked by entering the house in September | जुलाई में हुआ था दुष्कर्म, सितंबर में आरोपियों ने किया हमला, डर से छोड़ा घर; पुलिस पर मिलीभगत का आरोप

Spread the love

जींदएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

जींद में एक गैंगरेप पीड़िता ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर इच्छा मृत्यु की मांग की है। उसका कहना है कि मेरे साथ घर में घुसकर दुष्कर्म किया गया। इतने गंभीर मामले में शिकायत के बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। पीड़िता ने पत्र में लिखा है कि जहां महिलाओं का सम्मान नहीं है वहां मरना ही ठीक है। उसका कहना है कि अगर पुलिस-प्रशासन ने सभी आरोपियों को जल्द गिरफ्तार नहीं किया तो वह आत्महत्या कर लेगी।

शहीद स्मारक पर सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पीड़ित ने पुलिस-प्रशासन पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया। पीड़ित ने बताया कि 14 जुलाई को घर में घुसकर उसके साथ दुष्कर्म किया गया। पुलिस ने केस तो दर्ज कर लिया था लेकिन अभी तक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है। महिला ने आरोप लगाया कि पुलिस और दुष्कर्म के आरोपियों ने मिलीभगत कर केस वापस लेने का दबाव बनाया। पीड़िता ने आरोप लगाया कि उसे लगातार धमकियां मिल रही हैं। वह अपने गांव और घर भी नहीं जा पा रही है।

18 सितंबर को किया था हमला
महिला की उम्र 42 साल है और वो विधवा है। उसके बच्चे भी नहीं है। गांव में वो अकेले ही रहती थी। महिला ने गैंगरेप का आरोप गांव के ही कुछ दबंग लोगों पर लगाया है। महिला थाना पुलिस सदर थाना जींद जिले की गांव की महिला ने बताया कि 18 सितंबर को वह घर पर काम कर रही थी। इसी दौरान गांव के ही इंद्र, कप्तान, वीरेंद्र और सुभाष ने घर में घुसकर तेजधार हथियार से उस पर हमला किया। सदर पुलिस ने मामले में इंद्र सिंह, कप्तान, वीरेंद्र और सुभाष को नामजद कर आरोपी कप्तान को गिरफ्तार कर जिला जेल भेज दिया था।

अभी मामले की चल रही है तफ्तीश
जींद सदर थाना प्रभारी मनीष कुमार ने बताया कि पुलिस ने महिला की शिकायत पर 4 लोगों पर केस दर्ज कर एक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। फिलहाल मामले की तफ्तीश की जा रही है। जांच में जो भी दोषी मिलेगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published.